गर्मी की आम बीमारियों और इलाज

एक बार फिर वह समय आ गया है जब बहार की ठंडी हवा की जगह झुल्सा देने वाली गर्मी अपनी जगह ले रही है। लोग अभी से कहने लगे हैं ‘हाय, कितनी गर्मी है।’ स्टूडेंटस से लेकर पेशेवर, सभी को गर्मियों का सामना करना पड़ता है। अप्रैल और मई में धीरे-धीरे तापमान बढ़ता है तो गर्मी की कई बीमारियां भी सामने आने लगती है। डाॅक्टर गर्मी की आम बीमारियों और संक्रमण के बारे में जागरूक कर रहे हैं।
 
इस बारे में जानकारी देते हुए आईएमए के नेशनल प्रेसीडेंट डाॅ केके अग्रवाल और जनरल सेक्रेटरी डाॅ आरएन टंडन कहते हैं कि गर्मी में अनेक किस्म की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है। इसमें हाईपरथर्मिया, गर्मी से दाने, जकड़न, त्वचा का फूलना और हीट स्ट्रोक जैसी समस्याएं हो सकती हैं। किसी को हीट एग्ज़ाॅशन भी हो सकती है जब कोई अत्यधिक गर्मी के संपर्क में आए या भारी कसरत करते हुए शरीर में पानी और इलेक्ट्रोटाईप की कमी हो जाए, तो शरीर की मांसपेशियां कमज़ोर हो जाती हैं और दर्द होने लगती हैं। अगर ध्यान ना दिया जाए तो बेहोशी भी आ सकती है। सोसरायसिस, दाने और छाले जैसी त्वचा की समस्याएं भी हो सकती हैं जो गर्मी की वजह से होती हैं। इसके साथ ही आंत में सूजन, दस्त, पेचिश और अत्यधिक उल्टियों जैसे पाचनतंत्र की समस्याएं भी हो सकती हैं। महिलाओं को पेशाब नली में बैक्टीरीया और वायरल संक्रमण हो सकता है।
ज़रूरी है कि आप आहार में ज़्यादा से ज़्यादा तरल और खनिज तत्व लें। अत्यधिक मीठे जूस पीने से सोखने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है। अत्यधिक नमक वाले खाने से भी बचें, ज़्यादा गर्मी का असर होने से इससे ब्लड प्रैशर में बदलाव हो सकता है।

heat stroke home remedies hindi
डाॅ अग्रवाल कहते हैं कि जब कोई व्यक्ति लगातार गर्मी के संपर्क में बिना किसी सावधानी के रहता है तो उसे हीट स्ट्रोक हो सकता है जो कि जानलेवा भी हो सकता है। इन दिनों डाॅक्टरों के पास आना वाला हर दूसरा व्यक्ति गर्मी की बीमारियों, एलर्जी या साईड इफेक्ट्स से पीड़ित होता है। हमें लगातार अपने शरीर में पानी की मात्रा बनाई रखनी चाहिए ताकि पसीने से होने वाली कमी को पूरा किया जा सके।


इन बातों का रखें ध्यान-
  • जहां भी जाएं पानी की बोतल साथ ले जाएं
  • ज़्यादा मीठे वाले और पैकेट वाले जूस से परहेज़ करें
  • थोड़ी-थोड़ी देर बाद पानी नियमित रूप से पीते रहें
  • गहरे और तंग कपड़े ना पहनें। हल्के रंग के ढीले सूती कपड़े पहने जो गर्मी को बेहतर तरीके से संभालते हैं
  • तरबूज, खरबूजा, खीरा और ज़ुकीनी जैसे गर्मी के ज़्यादा से ज़्यादा फल और सब्जि़्ायां खाएं जिनमें पानी और खनिज तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं।
  • अगर सफर पर जाना हो तो शरीर को ठंडा और आरामदायक रखने वाला सामान अपने साथ रखें।
  • ज़्यादा थकाने वाली कसरत ना करें। हल्के और सांस ले सकने वाले कपड़े गर्मी कम पैदा करते हैं। योग, रस्सी कूदना और तेज़ सैर करना मददगार हो सकता है। रूकी हुई साईकल पर आधा घंटा साईकलिंग करना भी अच्छा रहता है। चारदीवारी के अंदर रहें और पानी पीना ना भूलें और शरीर को गर्मियों में ज़्यादा थकाएं ना।


Share on Google Plus

Share zordar times Updates

आपको यह ज़ोरदार पोस्‍ट पसंद आई, अपने दोस्‍तों के साथ शेयर करें